एमिटी विश्वविद्यालय में ‘‘विकसित भारत के लिए स्वदेशी तकनीक’’ पर राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2024 मनाया गया

Eros Times: नोबल पुरस्कार से सम्मानित भारतीय वैज्ञानिक सर चन्द्रशेखर वेंकट रमन के प्रति सम्मान प्रकट करते हुए आज एमिटी विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2024 मनाया गया जिसका थीम ‘‘ विकसित भारत के लिए स्वदेशी तकनीक‘‘ था। इस कार्यक्रम का शुभारंभ यूएसए के नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ हेल्थ, नेशनल आई इंस्टीटयूट के एन – एनआरएल प्रमुख और वरिष्ठ प्रिसिंपल इन्वस्टीगेटर डा आनंद स्वरूप, एलकॉम इनोवेशन्स के सीईओ और संचालन निदेशक श्री प्रदनील उसगांवकर, एमिटी विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर डा बलविंदर शुक्ला और एमिटी संाइंस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती द्वारा किया गया।

यूएसए के नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ हेल्थ, नेशनल आई इंस्टीटयूट के एन – एनआरएल प्रमुख और वरिष्ठ प्रिसिंपल इन्वेस्टीगेटर डा आनंद स्वरूप ने कहा कि भविष्य के विकसित भारत की झलक आज एमिटी में दिख रही है जहां एक ओर छात्रों की विज्ञान व अनुसंधान में रूचि दिख रही है वही महिला छात्राओं की उपस्थिती महिला सशक्तीकरण को दर्शा रही है। वर्तमान समय में जहां से भी ज्ञान मिले अवश्य प्राप्त करें और देश को मजबूत बनाये। उन्होनें छात्रों को अपने अनुभव पर सलाह देते हुए कहा कि जीवन में जोखिम लेने से ना डरें किंतु जोखिम का आकलन अवश्य करे, नवाचार केवल जोखिम लेने पर ही संभव है। अपने जीवन यात्रा में व्यतीत हो रहे हर समय का आनंद लें। डा स्वरूप ने कहा कि वर्तमान समय में विभिन्न माध्यमों से सूचनायें उपलब्ध हो रही है ऐसे में सही और गलत तथ्यों व सूचनाओं को पहचानना मुश्किल है इसलिए स्वंय के अदंर सही व गलत सूचनाओं को पहचानने का कौशल विकसित करें।

एलकॉम इनोवेशन्स के सीईओ और संचालन निदेशक प्रदनील उसगांवकर ने कहा कि आप सब नई पीढ़ी के पास तकनीकीयों के माध्यम से बहुत सारी जानकारी उपलब्ध है। एमिटी द्वारा अनुसंधान, नवाचर व तकनीकी के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य किया जा रहा है इसलिए विकसित भारत में छात्रों और विश्वविद्यालयों की भूमिका और भी महत्वपूर्ण हो गई है। हमें विकसित भारत बनाने के लिए और अधिक नवोन्मेषी मस्तिष्क की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री जी ने भी कहा कि है युवाओ की शक्ति ही परिवर्तन लायेगी। उन्होनें टेलीकॉम, टेलीविजन और डिजिटल पेमेंट के क्षेत्र में हुए बृहद परिवर्तन को बताते हुए कहा कि विकसित भारत के लिए बहुत सारी प्रौद्योगिकी की आवश्यकता है। युवाओ को अंतरिक्ष क्षेत्र में इसरो में युवा अभ्यर्थियों का प्रवेश की उम्र कम कर दी गई है। उन्होनें छात्रों से कहा कि आप ही देश का भविष्य हो जो नये भारत विकसित भारत का निर्माण करेगा।

एमिटी विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर डा बलविंदर शुक्ला ने कहा कि प्राचीन समय में भारत, नवाचार व अनुसंधान के लिए विख्यात है। छात्रों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने के लिए और भारतीय वैज्ञानिक सर चन्द्रशेखर वेंकट रमन के प्रति सम्मान प्रकट आज राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2024 मनाया जा रहा है। एमिटी छात्रों को अनुसंधान, नवाचार, उद्यम प्रारंभ करने के लिए प्रेरित करके प्रधानमंत्री के मिशन विकसित भारत में योगदान दे रहा है। आज नई शिक्षा नीती 2020 के अंर्तगत बहुअनुशासिक क्षेत्रों के सहयोग अनुसंधान व नई प्रौद्योगिकियां विकसित हो रही है।

एमिटी साइंस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती ने कहा कि हमें विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार को मस्तिष्क, शरीर व आत्मा समझना होगा। आज एमिटी के सभी परिसरों में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2024 मनाया जा रहा है। आज का दिन हमारे वैज्ञानिकों की उपलब्धियों पर गर्व करने और छात्रों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करने का दिन है। सभी के सहयोग से ही विकसित भारत का मिशन पूर्ण हो सकता है और एमिटी विश्वविद्यालय सहित एमिटी के युवाओं की भूमिका भी इसमें सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। उन्होनें छात्रों की समस्याओं का निवारण करने वाले नवाचार व प्रौद्योगिकीयां विकसित करने के लिए प्रेरित किया।

इस कार्यक्रम के अंर्तगत आयोजित तकनीकी सत्र के अंर्तगत न्यूरोसाइंस एंव न्यूरोटेक्नोलॉजी – एक भविष्य का परिपेक्ष्य, भारतीय तकनीक, आगे की राह में सेमीकंडक्टर की हालिया प्रगति, मातृभूमि की सुरक्षा में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी की भूमिका, मानवजाति की सेवा में परमाणु विषयों पर विशेषज्ञों ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर समारोह में एमिटी इंस्टीटयूट ऑफ मॉलेक्यूलर मेडिसिन एंड स्टेम सेल रिसर्च के चेयरमैन डा बी सी दास, एमिटी इंस्टीटयूट ऑफ एप्लाइड साइंसेस की निदेशक डा सुनिता रतन और एमिटी इंस्टीटयूट ऑफ मॉलेक्यूलर मेडिसिन एंड स्टेम सेल रिसर्च के निदेशक डा शुभ्राजीत दास उपस्थित थे।

  • admin

    Related Posts

    अनूपशहर निवासी नफ़ीसा की मददगार बनी सामाजिक संस्था जन कल्याण समिति |

    ErosTimes: अलीगढ़ सामाजिक संस्था जन कल्याण समिति अनूपशहर निवासी नफ़ीसा की बनी मददगार इस अवसर पर संस्था के अध्यक्ष इमरान खान ने बताया कि ये महिला हमारी संस्था के सचिव…

    केंद्रीय खेल मंत्री मनसुख मंडाविया से मिले डीसीसीआई के चेयरमैन राजेश भारद्वाज |

    भारत में जल्द आयोजित होने जा रहा है फिजिकली डिसेबल्ड क्रिकेट विश्व कप, 8 देशों की फिजिकली डिसेबल्ड क्रिकेट टीमें लेंगी भाग | ErosTime: नई दिल्ली। भारत में क्रिकेट का…

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    You Missed

    अनूपशहर निवासी नफ़ीसा की मददगार बनी सामाजिक संस्था जन कल्याण समिति |

    • By admin
    • July 20, 2024
    • 87 views
    अनूपशहर निवासी नफ़ीसा की मददगार बनी सामाजिक संस्था जन कल्याण समिति |

    केंद्रीय खेल मंत्री मनसुख मंडाविया से मिले डीसीसीआई के चेयरमैन राजेश भारद्वाज |

    • By admin
    • July 20, 2024
    • 285 views
    केंद्रीय खेल मंत्री मनसुख मंडाविया से मिले डीसीसीआई के चेयरमैन राजेश भारद्वाज |

    जाह्नवी कपूर हुई हॉस्पिटल में एडमिट, शूटिंग पर नहीं कर पाई फोकस

    • By admin
    • July 19, 2024
    • 40 views
    जाह्नवी कपूर हुई हॉस्पिटल में एडमिट, शूटिंग पर नहीं कर पाई फोकस

    अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की बढ़ी मुश्किलें, बराक ओबामा ने क्या कहा?

    • By admin
    • July 19, 2024
    • 27 views
    अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की बढ़ी मुश्किलें, बराक ओबामा ने क्या कहा?

    असम कृषि विश्वविद्यालय और एमिटी विश्वविद्यालय ने आपसी सहयोग की संभावनाओं पर की चर्चा

    • By admin
    • July 19, 2024
    • 35 views
    असम कृषि विश्वविद्यालय और एमिटी विश्वविद्यालय ने आपसी सहयोग की संभावनाओं पर की चर्चा

    डोडा में आतंकियों ने फैलाई दहशत, सेना के 2 जवान घायल

    • By admin
    • July 18, 2024
    • 35 views
    डोडा में आतंकियों ने फैलाई दहशत,  सेना के 2 जवान घायल